पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाई, प्रेमी ही निकला युवती का हत्यारा, इस वजह से उतारा था मौत के घाट…

जांजगीर चांपा. जिले के मालखरौदा में महीने भर पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा ली है. मालखरौदा के ग्राम पीरदा की रहने वाली पिंकी बंजारे का कत्ल उसी के प्रेमी ने की थी. इस बात का खुलासा पुलिस ने किया है. साथ ही पुलिस ने आरोपी प्रेमी मनोज कुर्रे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

इस तरह तरह हुआ मामले का खुलासा

दरअसल 10 जुलाई को ग्राम पिरदा के तालाब में एक युवती की संदिग्ध हालात में लाश मिली थी. जिसके बाद उसकी पहचान गांव की ही पिंकी बंजारे के रूप में हुई थी. पुलिस लगातार आरोपी का पता लगाने में जुटी रही. पुलिस ने मामले को सुलझाने के लिए डॉग स्क्वायड की भी मदद ली. शनिवार को पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि मृतिका पिंकी बंजारे की शादी साल भर पहले गांव के ही मनोज कुर्रे के साथ तय हुई थी. मनोज नशे का आदि था जिसके कारण उसकी शादी के डेढ़ माह बाद उसकी पत्नी उसको छोड़ कर चली गई थी.

दोनों के बीच था अवैध संबंध

जिसके बाद वह गांव कि पिंकी बंजारे के संपर्क में आया पिंकी अपने परिजन से अलग गांव में अकेली रहती थी. जिसके कारण मनोज का अक्सर उसके घर आना जाना था. दोनों के बीच शारारिक संबंध भी बन चुका था. दोनों की शादी तय हुई मगर मनोज की नशे की आदत नहीं छूट रही थी. जिसके कारण दोनों के बीच अक्सर विवाद हुआ करता था. मनोज को अम्बिकापुर के नशा मुक्ति केंद्र भेज दिया गया. करीब सात आठ माह बाद मनोज के परिजन मनोज को घर ले आए.

पिंकी शादी के लिए दवाब बना रही थी.

मनोज घर आने के बाद दोनों फिर एक दूसरे से मिलने लगे और पिंकी उसे शादी के लिए दबाव बनाने लगी. मगर मनोज शादी करने से इनकार करने लगा था. जब पिंकी नहीं मानी तो दोनों ने 7 जुलाई को कोर्ट में शादी करना तय हुआ, लेकिन मनोज ने फिर शादी की तारीख को बढ़ाकर 9 दिन बाद 17 जुलाई को तय किया. आरोपी अब भी पिंकी से शादी नहीं करना चाहता था इसलिए शादी से 7 दिन पहले 10 जुलाई को मनोज रात को पिंकी से मिलने उसके घर पहुंचा और शादी की बात को लेकर दोनों के बीच काफी विवाद हुआ.

गला दबाकर और पत्थर से की थी हत्या

विवाद धीरे-धीरे बढ़ता गया फिर इतना बढ़ गया कि मनोज ने पिंकी को जान से मारने की ठान ली और पिंकी को मारने कि कोशिश करने लगा मगर पिंकी उससे बचकर पास के ही तालाब की ओर भागी जहां मनोज ने पिंकी को पकड़ लिया. मनोज ने दुपट्टे से उसका गला दबा दिया. इतने में भी जब उसका मन नहीं भरा तो पास में पड़े पत्थर से उसका सर कुचल दिया और पिंकी के शव को तालाब में फेंक कर घर चला गया.

पुलिस गिरफ्त में आरोपी

बता दें कि पिंकी बंजारे अपने परिजनों से अलग घर में अकेली रहती थी. जिसके कारण पुलिस को आरोपी तक पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. लेकिन पिंकी के फ़ोन रिकार्ड की जब पड़ताल की गई तो कड़ी दर कड़ी मामला साफ़ होता गया. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी मनोज कुर्रे को अपने गिरफ्त में ले लिया. फिलहाल आरोपी जेल की हवा खा रहा है.

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *