मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा ‘‘मोर बिजली एप’’ के नये फीचर्स का शुभारंभ प्रदेश में साकार हुआ मोर मोबाईल-मोर बिजली दफ्तर

 

रायपुर दि. 06 अक्टूबर 2020- राज्य सरकार की नीति बिजली उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली आपूर्ति के साथ साथ सेवा सुविधा को गुणवत्तापूर्ण बनाने की है। इस दिशा में आगे बढ़ते हुए छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर डिस्टीब्यूशन कंपनी द्वारा निर्मित ‘‘मोर बिजली एप’’ के नये फीचर्स का शुभारंभ आज माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने किया। उन्होंने अपने निवास कार्यालय में इस एप को मोबाईल पर उपयोग करके भी देखा-परखा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एप गाॅव, शहर के बिजली उपभोक्ताओं के लिए ‘‘मोर बिजली, मोर दफ्तर, जैसा बहुपयोगी सिद्ध होगा। एप निर्माण हेतु पाॅवर कम्पनी की टीम बधाई की पात्र है।
आगे उन्होंने कहा कि प्रदेश में बिजली आमजनों की ताकत बन गई है। इस ताकत के भरपूर उत्पादन, पारेषण एवं वितरण को उन्नत बनाने के लिए पाॅवर कंपनी द्वारा लेटेस्ट टेक्नालाजी को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसका एक आदर्श उदाहरण ‘‘मोर बिजली एप’’ भी है। अतः इस एप की घर पहुंच बिजली सेवा से उपभोक्ताओं के समय,श्रम एवं पैसों की बचत होगी। इस निःशुल्क सुविधा का लाभ लेने सभी उपभोक्ताओं को इसे अपने मोबाईल पर डाउनलोड करना चाहिये। इस अवसर पर उपस्थित मान0 कृषि मंत्री श्री रवीन्द्र चैबे, मान0 शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डाॅ0 प्रेमसाय सिंह, मान. नगरीय प्रशासन मंत्री डाॅ0 शिव डहरिया ने भी एप को जनहित में अत्यन्त उपयोगी बताया।
कार्यक्रम में पाॅवर कम्पनीज के चेयरमेन श्री सुब्रत साहू ने कहा कि उर्जा से उन्नति की ओर प्रदेशवासियों को अग्रसर करने अनेक योजनायें और सुविधायें पहली बार आरंभ की गई है। जिनमें हाफ रेट पर बिजली योजना और मोर बिजली एप से उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिली है। भविष्य में भी छत्तीसगढ़ विद्युत विकास का गढ़ बना रहेगा, इस हेतु प्रदेश में विद्युत प्रणाली का तेजी से विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण काल में भी विद्युत विकास के मामलें में छत्तीसगढ़ अग्रणी बना हुआ है। कंपनी के ताप एवं जल विद्युत गृह अधिकतम विद्युत उत्पादन का कीर्तिमान दर्ज करके देश में अव्वल बने हुए हैं।
मोर बिजली एप के नये फीचर्स की जानकारी देते हुए पाॅवर डिस्टीब्यूशन कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री हर्ष गौतम ने बताया कि इस एप को गूगल प्ले स्टोर से निःशुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। एकबार डाउनलोड करने के बाद इसके माध्यम से उपभोक्तागण घर बैठे 16 से अधिक प्रकार के विद्युत संबंधी कार्यों का निपटारा कभी भी किसी भी समय कर सकते हैं। इस एप में शामिल नया फीचर ‘‘आपातकालीन शिकायत’’ विद्युत दुर्घटना की घड़ी में उपभोक्ताओं की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण सिद्ध होगा। इसके अन्तर्गत कहीं टूटे बिजली के तार या अन्य क्षतिग्रस्त विद्युत प्रणाली की फोटो खींचकर अपातकालीन शिकायत के अपलोड बटन को दबाने पर एसएमएस के द्वारा संबंधित अधिकारी/क्षेत्रीय कार्यालय को लोकेशन की सूचना के साथ साथ शिकायतदाता का मोबाईल नंबर पर प्राप्त हो जायेगा। जिससे शिकायत का निदान न्यूनतम समय में हो सकेगा।
उपभोक्तागण बिना दफ्तर जाये मीटर, नाम परिवर्तन, शिफ्टिंग, नया कनेक्शन, भार वृद्धि, टेरिफ परिवर्तन, बिल भुगतान, बिजली बिल हाफ योजना से प्राप्त छूट, बिजली बिल की गणना आदि कार्य घर बैठे ही कर सकते हैं।
मोर बिजली एप की खासियत
उपभोक्ता सेवा हेतु मोर बिजली एप बन गया है उपभोक्ता का बिजली दफ्तर । इसके द्वारा बिजली बंद की शिकायत दर्ज करने पर बिजली मिस्त्री गूगल मैप के सहारे उपभोक्ता के परिसर तक पहुंच सकता है।
बिजली की आपातकालीन शिकायत इस एप से करने पर जीपीआरएस लोकेशन की सूचना मिल जाती है और विद्युत दुर्घटना रोकने आपातकालीन शिकायत दूर करने सुधार दल स्थल पर जल्दी ही पहुंच जाता है।
मीटर शिफ्टिंग, नाम परिवर्तन, निम्नदाब बिजली कनेक्शन, भार वृद्धि-कमी हेतु बिजली दफतर जाये बिना इस एप से ऐसे कार्य पूर्ण हो जाते हैं।
उपभोक्तागण अपने सहित अन्य 04 विद्युत कनेक्शन के बिल को इस एप के माध्यम से अपने मोबाईल पर देख सकता है और बिल का भुगतान आॅन लाईन कर सकता है। जाहिर है लम्बी लाईन, धूप, बरसात की तकलीफ सहे बिना घर बैठे बिल भुगतान इससे कर सकते हैं।
उपभोक्तागण पिछले दो वर्षों में खपत किये गये बिजली की यूनिट्स तथा उसके भुगतान की भी जानकारी इस एप से ले सकते हैं।
बिजली बिल में गड़बड़ी की आशंका होने पर उपभोक्तागण इस एप से वर्तमान में लागू बिजली की दर को देखकर स्वयं सही बिजली बिल की गणना कर सकते हैं।
मीटर रीडिंग गड़बड़ी सुधारने हेतु उपभोक्तागण मीटर की रीडिं की फोटो खींचकर इस एप के द्वारा बिजली दफतर में भेजकर आसानी से सुधार करवा सकता है।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *