रायपुर जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध एफआईआर दर्ज

आरंगः ग्राम पंचायत पाहंदा मे मनरेगा कार्य के मजदूरी भुगतान की राशि कटौती के संबंध में जिला पंचायत सदस्य रायपुर श्रीमती रानी पटेल ने फोन कर मनरेगा इंजिनियर श्रीमती चैताली चंद्राकर को ग्राम पंचायत पाहंदा में बुलाया जहां पर सरपंच, उपसरपंच सहित लगभग 300 मजदूर महिला व पुरुष उपस्थित थे। जहां जिला पंचायत सदस्य रानी पटेल के द्वारा मनरेगा में हुए भुगतान की कटौती के संबंध में इंजिनियर से जानकारी लिया गया। जिसमें इंजिनियर के द्वारा जानकारी दिया गया कि 10 दिन पूर्व हुए गोदी कार्य में गहराई कम होने की वजह से मजदूरो की राशि के भुगतान में रोजगार सहायक तुमनाथ साहू व वेयर फुट इंजिनियर जितेन्द्र कुमार के रिपोर्ट के आधार पर गहराई कम होने के वजह से राशि में कटौती की जानकारी इंजिनियर श्रीमती चैताली चंद्राकर के द्वारा जिला पंचायत सदस्य रानी पटेल को जानकारी प्रदान किया गया। उसके बाद मनरेगा के भुगतान में हुए कटौती को लेकर जिला सदस्य बहुत ज्यादा आवेश में आते हुए इंजिनियर के साथ दुव्र्यव्हार करना चालू कर दिया व उनके प्रतिनिधि केजू राम पटेल, सरपंच रविदास धु्रव, उपसरपंच शोभाराम साहू के द्वारा शासकीय कार्य में बाधा डालते हुए तथा शासन के द्वारा लागू धारा 144 का उल्लंघन करते हुए व उपस्थित भीड को उकसाते हुए इंजिनियर चैताली चंद्राकर को बंधक बना लिए व पूरे 190 रु. की राशि का भुगतान की मांग को लेकर पूरी भीड़ इंजिनियर के साथ दुव्र्यव्हार करते हुए उन्हे घेरना चालू कर दिए तथा जिला सदस्य व जिला प्रतिनिधि के निर्देश पर गिरधारी यादव, लक्ष्मीनाथ तारक, शिवकुमार साहू, राजकुमारी साहू, इंद्रा साहू व मेनका साहू ने इंजिनियर के साथ धक्का-मुक्की करते व गाली-गलौज करते हुए इंजिनियर को बंधक बनाकर जमीन में बैठा दिए तथा उनके द्वारा लिए हुए मेजरमेंट को फाड़ दिए। जिसकी सूचना इंजिनियर द्वारा अपने उच्च अधिकारी जनपद पंचायत आरंग के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किरण कौशिक व कार्यक्रम अधिकारी अनिल चंद्राकर को दी गई। जो वहां पर पहुंचे तथा हस्तक्षेप करते हुए इंजिनियर श्रीमती चैताली चंद्राकर को छुडवाये। जिसकी जानकारी आरंग थाना प्रभारी को देते हुए इंजिनियर चैताली चंद्राकर ने थाने में मामला दर्ज करने हेतु आवेदन दिये। जिस आवेदन पर जिला पंचायत सदस्य रानी पटेल, उनके प्रतिनिधि केजू राम पटेल, सरपंच रविदास धु्रव, उपसरपंच शोभाराम साहू, गिरधारी यादव, लक्ष्मीनाथ तारक, शिवकुमार साहू, राजकुमारी साहू, इंद्रा साहू व मेनका साहू के विरुद्ध गाली-गलौज, बलवा, शासकीय कार्य में बाधा, शासकीय कर्मचारी के साथ दुव्र्यव्हार व धारा 144 के उल्लंघन का केस बनाते हुए आई.पी.सी. की धारा 186, 188, 294, 353, 323, 341, 147 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *