Big breking:- मुंगेली जिले के एक क्वारंटाईन सेंटर में आज फिर हुइ एक श्रमिक की मौत

मुंगेली – जिले में बने क्वारंटाइन सेंटरों की लापरवाही का मामला दिनोदिन बडता जा रहा है। प्रवासी मजदूरों को क्वारंटाइन में रखने के लिए पंचायतों मंे बनाये गये संेटरों में सुरक्षा के कोई पुखता इंतेजाम न होने के कारण वहा रहने वालों लोगो की मनमानी के साथ साथ सरपंच सचिवों और वहा लगाये गये कर्मचारियों की नजर अंदाजी भी प्रशासन के कार्य पर सवालिया निशान लगाते जा रहे है। आज हुए क्वारंटाइन सेंटर में कुछ दिनों से बिमार प्रवासी मजदूर के मौत ने एक बार फिर लापरवाही पूर्ण रवैये को उजागर कर दिया है।
मिली जानकारी के अनुसार मुंगेली ब्लाक के छीतापुर में बने क्वारंटाइन सेंटर में एक बार फिर बडी लापरवाही सामने आई जब एक हैदराबाद से वापस लौटे लगभग 25 वर्षिय युवक को एम्बुलेंस न होने के कारण इलाज के लिए आटो से जिला अस्पताल लाया जा रहा था, जहां रास्ते में ही उसकी मौत हो गई, सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृतक की तबियत विगत दो दिनों से खराब चल रही है, उसे बुखार और डायरिया की शिकायत थी, जिसका इलाज पंडरभठ्ठा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कराया गया था जहा उसकी स्थिति सामान्य होने पर सचिव के साथ वापस केन्द्र भेज दिया गया था, आज सुबह ए एन एम द्वारा दोबारा उसके जांच के लिए जाने पर उक्त व्यक्ति की बिगडती हालत को देखते हुए मुंगेली जिला अस्पताल के लिए ए एन एम द्वारा एम्बुलेंश बुलाया गया था, किंतु सचिव द्वारा स्थानिय व्यवस्था करके उक्त व्यक्ति को जिला अस्पताल लाया जा रहा था, जिस दौरान उसकी मृत्यु हो गई, जिला अस्पताल में मृतक का आर डी किट से कोराना टेस्ट किया गया है जो नेगेटिव पाया गया है, कोरोना टेस्ट के लिए सैपल निकाल कर रायपुर भेजा गया है, तब तक मृतक के शव को बिलासपुर के शवगृत भेज दिया गया है ।
मृतक 10 मई को हैदराबाद से वापस आया था, जिसके बाद उसे छीतापुर में बने क्वारंटाईन सेंटर में रखा गया था, गौरतलब हो कि जिले में इस तरह का ये दूसरा मामला है, जिसमे प्रशासन की इस तरह लापरवाही सामने आई है, हाल ही में क्वारंटाइन सेंटर में मौत का यह दूसरा मामला है,, इससे पहले भी क्वारंटाइन सेंटर में साँप काटने से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है,, काफी समय से क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था का मामला सुर्खियों में है । जिस पर प्रशासन की कोई पकड़ नजर नही आ रही है ।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *