छत्तीसगढ़ सरकार के मना करने के बावजूद अन्य प्रदेश का बेंचा जा रहा है शराब

रायपुर  ,गरियाबंद प्रशासन से सख्त निर्देश के बाद भीेअन्य प्रद्रेशों की शराब को छ्तीसगढ़ में जमकर बेचा जा रहा है। ताजा मामला गरियाबन्द जिले से है। जिला प्रशासन और आबकारी की टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए राजिम शराब भट्ठी से मध्यप्रदेश की शराब को जब्त किया है। राजिम भठ्ठी में भारी मात्रा में मध्यप्रदेश की शराब मिलने से जिला प्रशासन हतप्रभ है। स्थानीय प्रशासन ने भारी मात्रा में बाहरी शराब पकड़े जाने के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है। कोचियों के खिलाफ मुहिम तेज चलाने का निर्देश भी दिया है।

गरियाबन्द संवाददाता से मिली जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन ने लगातार शराब  की अवैध बिक्री की शिकायत और मुखबिर की सूचना पर राजिम भट्ठी में छापामार कार्रवाई की है। छापामार कार्रवाई के दौरान टीम ने भारी मात्रा में मध्यप्रदेश की शराब को जब्त किया है। कलेक्टर के आदेश पर हुई एसडीएम और तहसीलदार की छापामार कार्रवाई में 79 पेटी अवैध शराब जब्त हुए हैं। भारी मात्रा में मध्यप्रदेश की शराब मिलने से प्रशासन में खलबली मच गयी है। राजिम भठ्ठी से छापामार कार्रवाई के दौरान भारी मात्रा में अवैध शराब मिलने को लेकर जिला प्रशासन ने आबकारी अधिकारी सोनल नेताम को तलब किया है। साथ ही शराब के अवैध कारोबारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश हुआ है। जानकारी के अनुसार छापामार कार्रवाई के बाद टीम ने आबकारी प्रशासन ने कलेक्टर के आदेश पर त्वरित कार्रवाई करते हुए भट्ठी के सुपरवाइजर और तीन सैल्समैन को नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है,  बताते चलें कि सरकारी दुकान से बाहर की शराब बिना परमिट बेचने का अधिकार किसी को नहीं है। बावजूद इसके उत्तर से दक्षिण छत्तीसगढ़ के विभिन्न शराब भट्ठियो से चोरी छिपे मध्यप्रदेश समेत अन्य राज्यों की शराब को धड़ल्ले से खपाया जा रंहा है। जबकि प्लेसमेन्ट कम्पनी ईगल हन्टर को सख्त निर्देश है कि प्रदेश की किसी भी शराब दुकान में बाहर की शराब बिकते पाए जाने पर सारी गलती कम्पनी की मानी जाएगी। जानकारी हो कि ईगल हन्टर कम्पनी के  कर्मचारी ही शराब दुकानों में सेल्समैन सुपरवाइजर समेत अन्य पदो पर भर्ती हैं।

जाहिर सी बात है कि राजिम भठ्ठी में 79 पेटी शराब मिलने के लिए सीधे सीधे प्लेसमेन्ट कम्पनी दोषी है। कयास लगाया जा रहा है कि कम्पनी पर कठोर कार्रवाई हो सकती है। जानकारी यह भी मिल रही है कि स्थानीय स्तर पर मामले को दबाने का भी प्रयास चल रहा है।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *