विकास तिवारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर लगाया सनसनीखेज आरोप- भाजपा को बताना चाहिये कि चिटफंड माफियाओं को संरक्षण देने के एवज में कितना कमीशन लिया जाता है

रायपुर! छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कल राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ में भाजपा के मंडल अध्यक्ष कमलेश कोठारे की गिरफ्तारी पर हमलावर होते हुवे कहा कि भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता एवं बड़े पदाधिकारी सुनियोजित तरीके से चिटफंड कंपनियों में प्रदेश की भोली-भाली जनता को फंसाने का काम करते थे जो आज भी अनवरत जारी है और उनकी मेहनत की गाढ़ी कमाई को लूटने का भी काम भारतीय जनता पार्टी के नेता अनवरत 16 सालों से करते आ रहे हैं पूर्ववर्ती रमन सरकार के समय चिटफंड कंपनियों के माध्यम से प्रदेश के लाखों जनता का खून पसीने की कमाई के दस हजार करोड़ से अधिक की राशि लूटा गया जिसे संरक्षण तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह उनका मंत्रिमंडल और भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश इकाई देता था। खैरागढ़ भाजपा मंडल अध्यक्ष गिरफ्तारी से यह स्पष्ट होता है कि भारतीय जनता पार्टी सुनियोजित और संगठित तरीके से चिटफंड माफियाओं को संरक्षण देती है और उसके बदले में मोटा कमीशन उनसे लेती है। तत्कालीन भाजपा सरकार के समय पूरे प्रदेश भर में सैकड़ों निर्दोष चिटफंड एजेंटों के ऊपर फर्जी मुकदमे दर्ज कराये गये और उन्हें चिटफंड कंपनियों के लूट का दोषी बताया जबकि चिटफंड कांड के असली माफिया प्रदेश भाजपा के ही आला नेता होते थे तत्कालीन रमन सरकार के समय कई चिटफंड एजेंटों ने दबाव में आकर आत्महत्या तक कर ली थी और सैकड़ो एजेंटो पर फर्जी मुकदमे दर्ज करके उन्हें जेल तक भेजने की साजिश भाजपा सरकार के आला नेता किया करते थे।खैरागढ़ के भाजपा मंडल अध्यक्ष की गिरफ्तारी से पूरे प्रदेश में चिटफंड कंपनियों में डूबी हुई करोड़ों-अरबों रु गवाने वाले पीड़ितों को न्याय मिलने की उम्मीद जगी है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और भाजपा प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णुदेव साय से प्रश्न किया है कि खैरागढ़ के मंडल अध्यक्ष कमलेश कोठारे से पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व सांसद अभिषेक सिंह के क्या संबंध है, पिछले 15 सालों के भाजपा शासनकाल मे दस हजार करोड़ से अधिक चिटफंड कंपनियों में प्रदेश के जनता को लूटने वाला चिटफंड माफिया कौन-कौन है.
चिटफंड माफियाओं को संरक्षण देने के एवज में भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई कितना प्रतिशत कमीशन लेती है.चिटफंड कंपनियों की वसूली का जिम्मा मंडल अध्यक्ष जिला अध्यक्ष एवं भाजपा के अलावा और कौन शीर्ष नेता करते हैं इसका खुलासा भाजपा को प्रदेश की जनता के सामने करना चाहिये। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि डॉ रमन सिंह के पिछले तीन बार के शासनकाल में पचास लाख से अधिक पढ़े लिखे युवा बेरोजगार थे 38 प्रतिशत से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे थे 18 प्रतिशत से अधिक लोग झुग्गी झोपड़ी में रहने को मजबूर थे वहीं दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के शासनकाल में प्रदेश की जनता के गाढ़ी कमाई का दस हजार करोड़ से अधिक की राशि लूटने का काम चिटफंड माफिया सुनियोजित तरीके से करते थे और इन्हें भाजपा सरकार के अलावा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश इकाई से भी संरक्षण प्राप्त था अब जब खैरागढ़ के भाजपा मंडल अध्यक्ष की गिरफ्तारी चिटफंड कांड में हुई है तो पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और भारतीय जनता पार्टी को जवाब देना चाहिए कि प्रदेश की जनता को लूटने वालों के साथ भाजपा ही क्यों खड़ी नजर आती है क्या कारण है कि जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने वालों के साथ भाजपा के संबंध प्रत्यक्ष रूप में दिखाई दे रहे हैं।प्रदेश के चिटफंड कांड के पीड़ित और बेरोजगार युवा इन सवालों का जवाब भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय से जल्द से जल्द जानना चाहती है।

 

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *