कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर कमलनाथ सरकार पर लगने लगा वादाखिलाफी का आरोप, एनएचएम स्वास्थ्य विभाग सहित विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को आदेश के बावजूद नहीं मिला 90% वेतन

 भोपाल । मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार बने तकरीबन 1 साल से ऊपर हो गया है लेकिन कमलनाथ सरकार अपने वचन पत्र में कीए हुए वादों को निभाने में नाकामयाब साबित हो रही है । प्रदेश में आए दिन विभिन्न विभाग के संविदा कर्मचारी हड़ताल पर दिखाई देते हैं ।अपने हक की लड़ाई लड़ने संविदा कर्मचारी भोपाल की दौड़ लगा रहे हैं। कमलनाथ सरकार ने संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर विभिन्न अवसरों में अलग-अलग बयान दिए हैं हाल ही में टीवी चैनलों के मुताबिक कमलनाथ सरकार 10 साल तक कार्यरत सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित करने की बात कही गई है। वही 3 साल से अधिक सेवा देने वाले संविदा कर्मचारियों को समान वेतन देने की भी बात कही गई है।

आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग के परियोजना एनएचएम में हजारों संविदा कर्मचारी कार्यरत है वही अतिथि शिक्षक आए दिन आंदोलन पर दिखाई देते हैं रोजगार सहायक विद्युत विभाग के संविदा कर्मचारी कई बार आंदोलन कर सरकार से वचन पत्र में किए हुए वादों को पूरा करने का मांग किया । लेकिन 1 साल बीत जाने के बाद भी कमलनाथ सरकार वचन पत्र में किए हुए वादों को निभाने में नाकामयाब रही है ।देखना यह होगा कि क्या कमलनाथ सरकार बजट सत्र में संविदा कर्मचारियों के लिए कुछ कर पाती है या संविदा कर्मचारियों को और इंतजार करना पड़ेगा।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *