कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वैच्छिक सेवा देने पंजीकृत व्यक्तियों एवं संस्थाओं से ली जाएगी सहायता

रायपुर. 21 मई 2020. प्रदेश में कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए स्वैच्छिक सेवा प्रदान करने के लिए पंजीयन कराने वाले मानव संसाधन की भी सहायता ली जाएगी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव और स्वास्थ्य विभाग की अपील पर बड़ी संख्या में स्वैच्छिक सेवा के इच्छुक व्यक्तियों एवं संस्थाओं ने पंजीयन कराया है। स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने सभी कलेक्टरों को पंजीकृत मानव संसाधन और वॉलेंटरी एंगेजमेंट प्लॉन की जानकारी देते हुए आवश्यकतानुसार इनसे सहयोग प्राप्त करने को कहा है।

स्वास्थ्य सचिव ने कलेक्टरों को लिखे पत्र में बताया है कि राज्य शासन की अपील पर कोरोना वायरस के नियंत्रण में स्वैच्छिक सहयोग के लिए 20 मई तक पूरे प्रदेश में 5521 पंजीयन दर्ज किए गए हैं। सहयोग के लिए अभी भी नए पंजीयन प्राप्त हो रहे हैं। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े मानव संसाधन के 1593 नामांकन प्राप्त हुए हैं। इनमें 495 डॉक्टर, 434 नर्स, 258 पैरामेडिकल एवं 379 अन्य स्टॉफ हैं। इसके साथ ही सभी जिलों से गैर-सरकारी संस्थाओं, शैक्षणिक संस्थाओं और गैर-चिकित्सीय मानव संसाधन के रूप में अनेक व्यक्तियों ने पंजीयन कराया है। स्वास्थ्य विभाग ने पंजीकृत समस्त मानव संसाधन की योग्यता व कार्यानुभव के आधार पर सूची तैयार की है। सभी कलेक्टरों को इस सूची को देखने और अपने जिले से संबंधित पंजीकृत मानव संसाधन की जानकारी के लिए लॉग-इन आईडी व पासवर्ड जल्द ही भेजे जाएंगे।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *