डी एस कंटक्शन मामले में चार्टर एकाउंटेंट दीपक आचार्य हुए गिरफ्तार

रायपुर। डीएस कंस्ट्रक्शन धोखाधड़ी मामले में आज एक चार्टर एकाउंटेंट की गिरफ्तारी हुई है। इस मामले में पहले ही तीन गिरफ्तारी हो चुकी है। आरोप है कि डीएस कंपनी से करीब पौने दो करोड़ की धोखाधड़ी कर चित्रकांत बघेल ने एक नया फर्म अर्थव कंस्ट्रक्शन कंपनी बना लिया था। चार्टर एकाउंटेंट दीपक आचार्च ने गलत तरीके से दूसरे फर्म से गोलमाल किये पैसे की आडिट कर उसे व्हाइट मनी बनाया था। वो डीएस कंस्ट्रक्शन व आरोपी के फर्म दोनों का आडिट देखा करता था।

पुलिस ने इस पूरे धोखाघड़ी के प्रकरण में चार्टर एकाउंटेंट की संलिप्तता देखते हुए उसकी भी आज गिरफ्तारी कर दी। आरोप है कि दीपक आचार्य ने इस दौरान लाखों रुपये जब  उसने अपने पत्नी और रिश्तेदारों के नाम पर भी पैसे ट्रांसफर किये थे। जानकारी के मुताबिक पूरा मामला 2018 का है। डीएस कंपनी के एकाउंटेंट चित्रकांत बघेल ने पौने दो करोड़ का धोखाधड़ी की। उसने कंपनी के अलावा एक और फर्म बना लिया था. दोनों फर्म का ऑडिट सीए दीपक आचार्य के पास कराता था। धोखाधड़ी के बाद चित्रकांत ने सीए दीपक आचार्य व उसकी पत्नी सुष्मिता से संपर्क किया। दोनों को चित्रकांत पहले से जानता था।

जानकारी के मुताबिक सीए दीपक ने आडिट के दौरान 15 लाख रुपये डीएस कंस्ट्रक्शन कंपनी से आना दिखाया लेकिन इनकम टैक्स रिटर्न में डीएस कंस्ट्रक्शन में इसे जोड़ा नहीं गया। इसी तरह पैसे के कई सारे गड़बड़ झाले आरोपी सीए ने किये थे, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में डीएसपी अभिषेक महेश्वरी ने बताया कि डीएस कंस्ट्रक्शन कंपनी की गड़बड़ी मामले में सीए की संलिप्तता की जानकारी मिली थी, पुलिस इस मामले में पहले से इन्वेस्टिगेशन कर रही थी, इन्वेस्टिगेशन के दौरान चार्टर एकाउंटेंट दीपक की तरफ से की गयी हेराफेरी का मामला सामने आया, जिसके बाद आज उसकी गिरफ्तारी की गयी है। इस मामले में मुख्य आरोपी सहित तीन लोगों की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *