दत्तक पुत्र ने किया माँ की ह्त्या


रायपुर। राजधानी रायपुुर से बड़ी खबर आ रही है  एक दत्तक पुत्र ने संपत्ति को लेकर 30 साल तक बेटा बनकर रहा उसी माँ की हत्या कर दी। आरोपी पुत्र ने हत्या को साधारण मौत का रूप देकर मां की लाश को मेडिकल कॉलेज में दान कर दिया। रायपुर के प्रोफेसर कालोनी में दत्तक पुत्र सुदीप बोस उम्र 30 साल की सन्दिग्ध गतिविधियों की शिकायत पर थाना पुरानी बस्ती की सतर्कता व सूचना को गंभीरता से लेने पर हत्या का खुलासा किया। थाना पुरानी बस्ती क्षेत्र के प्रोफेसर कालोनी स्थित मकान में 25-26 फरवरी 2019 की दरम्यानी रात को घटना को अंजाम दिया। मृतिका हेमप्रभा बोस ने आरोपी को डेढ़ साल की उम्र में गोद लिया था। संपत्ति विवाद को लेकर आरोपी दत्तक पुत्र ने अपनी मां की हत्या की साजिश रच डाला । मृतिका द्वारा अपनी पूरी संपत्ति आरोपी पुत्र के नाम कर दिया गया था । गिरफ़्तार आरोपी द्वारा मृतिका की हत्या कर शव को गुप्त तरीके से मेकाहारा मेडिकल कालेज में दान कर दिया गया था । दान दिये गये शव का नहीं होता पोस्टमार्टम की जानकारी के आधार पर आरोपी ने हत्या करने की योजना बनाकर लिया था।
आरोपी के विरूद्ध थाना पुरानी बस्ती में धारा 302, 201 भादवि. के तहत मामला दर्ज किया गया है।
हेमप्रभा बोस के रिश्तेदारों के संबंध में पतासाजी कर उक्त घटना की जानकारी उन्हें दी गई। जिस पर महिला का भाई प्रार्थी जगदीश चन्द्र बोस निवासी ग्राम माकड़ीखुना, तहसील, थाना व जिला कांकेर ने थाना पुरानी बस्ती आकर लिखित शिकायत पत्र प्रस्तुत किया कि उसकी बड़ी बहन हेमप्रभा बोस जो प्रोफेसर कालोनी थाना पुरानी बस्ती रायपुर में रहती है एवं साथ में उसका दत्तक पुत्र सुदीप बोस रहता है। हेमप्रभा बोस जो काफी वृद्ध एवं बीमार थी उसका दत्तक पुत्र सुदीप बोस हमेशा उससे मारपीट करता था तथा सुदीप बोस के द्वारा ही हेमप्रभा बोस की हत्या करने की आशंका व्यक्त किया गया। इसी दौरान थाना पुरानी बस्ती की टीम को सूचना प्राप्त हुई कि हेमप्रभा बोस की शव मेकाहारा के मेडिकल कालेज में दान दिया गया है। जिस पर थाना पुरानी बस्ती में मर्ग कायम कर मृतिका के शव को मेडिकल कालेज से निकलवाकर पोस्टमार्टम कराया गया, शार्ट पी.एम. रिपोर्ट में डाॅक्टर द्वारा मृतिका की हत्या गला दबाकर करना लेख करने से मृतिका के दत्तक पुत्र सुदीप बोस से कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा अपनी मां मृतिका हेमप्रभा बोस की हत्या करने की बात स्वीकार किया गया।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *