प्रभारी मंत्री श्री अमरजीत भगत ने बालोद जिले में किया ‘गोधन न्याय योजना’ का शुभारंभ

रायपुर, 20 जुलाई 2020/खाद्य, संस्कृति एवं बालोद जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमरजीत भगत ने आज हरेली त्यौहार के अवसर पर जिले के गुरूर विकासखण्ड के ग्राम चिरचारी और मिर्रीटोला में गोधन न्याय योजना का शुरूआत किया। उन्होंने ग्रामीणों को हरेली त्यौहार की बधाई और शुभकामनाएं दी। मंत्री श्री भगत ने ग्राम चिरचारी और मिर्रीटोला के गौठान में खेती-किसानी के औजारों की पूजा की। उन्होंने मवेशियों को हरा चारा खिलाया। उन्होंने ग्राम चिरचारी और मिर्रीटोला के गौठान परिसर में बरगद का पौधा लगाया।

इस अवसर पर श्री भगत ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। ग्रामीणों, किसानों और पशुपालकों की बेहतरी के लिए गोधन न्याय योजना की शुरूआत की गई है। गोबर की खरीदी से पशुधन के संरक्षण एवं संवर्द्धन को बढ़ावा मिलेगा। पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी। स्थानीय स्तर पर जैविक खाद उपलब्ध होगा। खुली चराई पर रोक लगेगी। स्वसहायता समूहों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के संवर्धन का कार्य किया जा रहा है, इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत गौठानों में गोबर की खरीदी दो रूपए किलो में की जाएगी। गौठानों में स्व-सहायता समूहों के माध्यम से वर्मी कम्पोस्ट खाद एवं अन्य उत्पाद तैयार किए जाएंगे। वर्मी खाद का विक्रय आठ रूपए प्रति किलो की दर से किया जाएगा।

मंत्री श्री भगत ने विभिन्न विभागों तथा स्व-सहायता समूहों द्वारा लगाए गए स्टालों का अवलोकन किया और समूहों द्वारा बनाए गए सामाग्रियों की सराहना की। उन्होंने ग्राम चिरचारी के गौठान में कल्याणी स्व-सहायता समूह द्वारा धान की बाली से बनाए गए ‘‘बालोद बंधन राखी‘‘ तथा अन्य सामग्री की खरीदी की। उन्होंने हितग्राहीमूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री प्रदान कर लाभान्वित किया। श्री भगत ने पशुपालकों द्वारा लाए गए गोबर को दो रूपए प्रति किलोग्राम की दर से खरीदी कराते हुए गोबर क्रय पत्रक प्रदान किया। संजारी-बालोद विधायक श्रीमती संगीता सिन्हा ने कहा कि गोधन न्याय योजना बहुउद्देशीय और लाभकारी है, इससे किसानों के जीवन स्तर में सुधार आएगा। उन्होंने हरेली तिहार की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, पुलिस अधीक्षक वनमंडलाधिकारी, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित जनप्रतिनिधि, नागरिक और ग्रामीण मौजूद थे।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *