घर के सामने गाजा शराब पीने से मना करने पर नशेणियो ने की व्यापारी की हत्या

मुंगेली.बड़़ी खबर है, सिटी कोतवाली क्षेत्र में बुधवार तड़के हुई गल्ला व्यापारी धींगड़मल जैन की हत्या का खुलासा पुलिस ने शाम को ही कर दिया। अनाज व्यापारी की गलती सिर्फ इतनी थी कि उन्होंने आरोपियों को घर के सामने गांजा पीने से रोका था। इसे लेकर एक-दो बार उनके बीच कहासुनी भी हो चुकी थी। पुलिस ने इस मामले में एक को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य दो की तलाश की जा रही है। घटना स्थल पर छूटे मोबाइल और सीसीटीवी फुटेज से आरोपी की पहचान हुई। हत्या के बाद एक आरोपी कपड़े बदलकर मौके पर नजारा देखने के लिए पहुंचा था।

  1. सिटी कोतवाली से कुछ दूर पड़ाव चौक के पास सारथी पारा में अनाज व्यवसायी धीगड़मल जैन अपनी पत्नी के साथ रहते थे। उनके निवास स्थान के पास ही उनकी दुकान है। 57 वर्षीय धीगड़मल जैन के मकान के सामने आरोपी रघुवीर निषाद, पप्पू चौहान और कुबेर सारथी  गांजा, शराब आदि पीते थे। जिस पर जैन उन्हें अपने मकान के सामने ऐसा करने से मना करते थे। यही घटना का कारण बन गया और आरोपियों ने उनकी हत्या कर दी। घटना का समय के भी आरोपी संदिग्ध कार्य कर रहे थे, जिसे जैन ने रोका था। जैन का मना करना आरोपियों को यह नागवार लगा।
  2. तीन आरोपियों ने मिलकर बुधवार सुबह 5 बजे उनकी आंखों में मिर्च डाली और चाकू से गोदकर हत्या कर दी। आरोपियों ने वारदात को जैन की पत्नी के सामने ही अंजाम दिया। तीन आरोपियों में से एक मृतक के निवास स्थान के पास ही का रहने वाला है। धीगड़मल जैन घर के मुख्य प्रवेश के अंदर दरवाजे के पास गिर पड़े व खून से लथपथ थे। उसके गले व छाती में वार के तीन निशान दिख रहे थे। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी तीनों युवक दरवाजा व चैनल गेट बंद कर फरार हो गए।
  3. पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान की गई। जब आरोपी रघुवीर उर्फ रघु निषाद को पकड़कर पूछताछ की गई तो उसने गुनाह कबूल कर लिया। उसने बताया कि वह अपने साथी पप्पू चौहान के साथ गांजा पीता था, तो धींगड़मल जैन उसे गुस्से में बुराभला कहते थे। बुधवार सुबह अपने साथी पप्पू चौहान और कुबेर सारथी के साथ मिलकर जैन के घर में घुसे और आंख में मिर्ची पाउडर डालकर चाकू से गर्दन पर वार कर दिया। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो की तलाश जारी है।
SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *