कोरोना वायरस के रोकथाम की आपात बैठक: हेल्थ मिनिस्टर को सूचना ही नही, कृषि मन्त्री और परिवहन मन्त्री के साथ मुख्यमन्त्री की बैठक के मायने

रायपुर। गुरुवार देर रात मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस से निपटने हेतु आपात बैठक बुलाई जिसमें प्रमुख रूप से कृषि मंत्री  चौबे तथा परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर उपस्थित थे। बैठक मे मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयों को इससे निपटने के लिये आवश्यक  इन्तज़ाम करने के निर्देश दिये। लेकिन बैठक मे स्वास्थ्य मन्त्री टीएस सिंहदेव के उपस्थित ना रहने से राजनीतिक गलियारों मे कई मायने निकाले जा रहे हैं। आज राजधानी से प्रकाशित कई अखबारों तथा चैनलों मे टीएस सिंहदेव की नाराज्गी की भी बात सामने आ रही है। राज्धानी रायपुर से प्रकाशित एक अखबार के अनुसार करोना से निपटने के रोकथाम हेतू बुलाई गई आपात बैठक की हेल्थ मिनिस्टर को सूचना ही नही थी।इससे यह प्रतीत हो रहा है  छत्तीसगढ़  की  भी राजनीति मे  भी नाराजगी के स्वर बाहर आने  लगे हैं ।

जनाधार वाले नेता हैं टीएस सिंहदेव-

अभी हाल ही मे मध्य प्रदेश के धाकड़ नेता राहुल गान्धी के कारीबी ज्योतिराज सिंधिया ने मुख्यमंत्री  कमलनाथ से नाराजगी  और उपेक्षा  के कारण भजपा का दामन थाम लिया है। हालाकि छत्तीसगढ़ की राजनीतिक स्थिति जुदा है। यहां मध्य प्रदेश जैसी स्थिति  यह्ना नही है । पर यदि स्वास्थ्य व्यवस्था के इन्तजाम की बैठक हो और स्वास्थय मन्त्री को सूचना ना हो तो निश्चित ही राजनीतक गलियारों मे इसके अलग मायने निकलते हैं। और स्पष्ट होता है की अन्दरखाने मे सब कुछ थीक नही चल रहा।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *