पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद से जम्मू- कश्मीर में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. एक तरफ नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान अक्सर बिना उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है तो घाटी में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. गुरुवार तड़के से शुरू क्रालगुंड और हंदवाड़ा में गोलीबारी चल रही है. इसमें एक आतंकी मारा गया है. सुरक्षाबल आतंकियों की तलाश  के लिए सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. स्थानीय स्थिति को काबू में रखने के लिए हंदवाड़ा और कुपवाड़ा में इंटरनेट को बंद कर दिया गया है.

इससे पहले मुठभेड़ में मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया और आतंकियों के घर को उड़ा दिया. यह दोनों हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे. सुरक्षाबलों ने इनके पास से राइफल समेत कई असलहे भी बरामद किए गए थे. सुरक्षाबलों को त्राल के रेशी मोहल्ले में दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी. इसके बाद 42 राष्ट्रीय राइफल्स, 180 बटालियन सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने इलाके को घेर लिया और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया. इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी थी.

वहीं, जम्मू- कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (LoC) पर भारतीय और पाकिस्तानी सेनाओं के बीच छह मार्च को शुरू हूई भारी गोलाबारी बुधवार तड़के तक जारी रही. पाकिस्तानी सेना ने बिना उकसावे के सुंदरबनी सेक्टर में मंगलवार को लगभग 10.30 बजे से संघर्षविराम का उल्लंघन कर मोर्टार और छोटे हथियारों से गोलाबारी और गोलीबारी की. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि गोलीबारी मंगलवार सुबह 4.30 बजे तक जारी रही. भारतीय सेना ने इसका प्रभावी जवाब दिया.