रायपुर।बड़ी खबर आ रही है कि मंत्री को पत्र लिखने की वजह से ही सुकमा एसपी की कुर्सी गयी है। कल भी भूपेश बघेल ने ये बाते कही थी और आज भी उसी बात को दोहराया है कि सुकमा एसपी ने मंत्री कवासी लखमा को पत्र लिखा था, इसलिए उन्हें हटाया गया है। प्रवक्ताओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम में पहुंचे भूपेश बघेल से जब सुकमा एसपी को हटाने की वजह पूछी गयी, तो उन्होंने दो टूक कहा कि

“मैंने कल ही बताया था, कि अफसर इस तरह से मंत्री को सीधे पत्र नहीं लिख सकते हैं, इस लिये इनपर ये कार्रवाई हुई है, इन्होंने पत्र लिखा इसलिए हटाया गया”

आपको बता दें कि 7 मार्च को राज्य सरकार ने सुकमा एसपी को हटाने का आदेश जारी किया था। राज्य पुलिस सेवा के डीएस मरावी को सुकमा का नया एसपी बनाया गया था, जबकि वहाँ एसपी रहे आईपीएस जितेंद्र शुक्ला को पीएचक्यू भेजा गया था।

इस तबादले को लेकर उसी वक्त से आशांकाएं गहरायी हुई थी, क्योंकि जितेंद्र शुक्ला को हटाने को लेकर फैसला अचानक लिया गया था, लेकिन रविवार को जब जितेंद्र शुक्ला ने अपने तबादले को लेकर हैरानी जताये हुए इसे अप्रत्याशित बताया  और उसी शाम मुख्यमंत्री ने एक पत्र जिक्रकर पूरे मामले पर सस्पेंस गहरा दिया।

बाद में जो छन-छनकर बातें सामने आयी कि किसी तबादले के लिए मंत्री कवासी लखमा ने सुकमा एसपी को आदेश दिया था, लेकिन उन्होंने इसके एवज में मंत्री को ही पत्र लिखकर मना कर दिया। जिसके बाद शिकायत ऊपर तक पहुंची और फिर ये कार्रवाई की गयी।