मध्य प्रदेश में भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल दो विधायकों से गृह मंत्री अमित शाह नाराज शिवराज सिंह चौहान से मांगे जबाब

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में बुधवार को विधानसभा बजट सत्र के आखिरी दिन, भाजपा छोड़ कांग्रेस का दामन थामने वाले दो विधायकों की घटना से पार्टी हाईकमान नाराज है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह से फोन पर बातचीत कर नाराजगी जताई है। पार्टी अध्यक्ष व गृह मंत्री अमित शाह ने साफतौर पर प्रदेश नेतृत्व की कमजोरी को इस घटना का जिम्मेदार माना है।पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि शाह की नाराजगी के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय में शिवराज, राकेश सिंह, सुहास भगत और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बैठक की और दोनों बागी विधायकों से बातचीत की कोशिश की, लेकिन वे मोबाइल फोन पर उपलब्ध नहीं हुए। इसके बाद शिवराज भोपाल से रवाना हो गए, वे दिल्ली में होने वाली संसदीय बोर्ड की बैठक में भी शामिल होंगे। पार्टी सूत्रों का कहना है कि शिवराज इस दौरान शाह को स्पष्टीकरण दे सकते हैं।ब्यौहारी विधायक शरद कोल और मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने बुधवार को विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक पर हुए मत विभाजन में कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया था। इसके बाद से भाजपा की सियासत में भूचाल आ गया है। पार्टी ने आनन-फानन में प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह को भोपाल भेजा और डैमेज कंट्रोल की कवायद शुरू की पर उन्हें आंशिक सफलता भी नहीं मिली। इस दौरान पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह और विश्वास सारंग भी प्रदेश कार्यालय में दिग्गजों के साथ सक्रिय रहे।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *