मुकेश गुप्ता ने रेखा नायर का किया बचाव एस पी रजनेश सिंह को बताया दोषी

रायपुर।ईओडब्ल्यू की टीम ने आज निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता से नान-फोन टैपिंग प्रकरण में पूछताछ की। पूरे मामले के लिए उन्होंने निलम्बित एसपी रजनेश सिंह को दोषी बताने की कोशिश की और स्टेनो रेखा नायर का बचाव करने की कोशिश की। बताया गया सीधे तौर पर जवाब देने की बजाय वे जवाब देने से बचने की कोशिश करते नजर आए। करीब पांच घंटे तक हुये पूछताछ में कई सवाल पूछे गए। पूरे बयान की वीडियोग्राफी भी हुई है।
श्री गुप्ता करीब 12 बजे ईओडब्ल्यू दफ्तर पहुंचे। उनसे टीआई स्तर के अफसर ने सिलसिलेवार सवालों के जवाब लिए। सवाल पहले से ही तैयार किए गए थे। श्री गुप्ता अपने वकील अमीन खान को लेकर पहुंचे थे, लेकिन बयान अकेले में ही दिया । वकील को भी अंदर नहीं बुलाया। जबकि पिछली बार वकील भी पूछताछ के दौरान उनके साथ थे।
बताया गया इस बार उनके तेवर काफी नरम रहे। पिछली बार पूछताछ में वहां एसपी इंदिरा कल्याण एलेसेला से लेकर एएसआई स्तर के अफसरों पर काफी गरम हुए थे। एलेसेला के बयान के दौरान मौजूदगी पर भी आपत्ति की थी, लेकिन इस उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया। इस बार उनका रूख काफी बदला रहा। उन्होंने ज्यादातर सवालों का कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया।
बताया गया कि ईओडब्ल्यू के निलंबित एसपी रजनेश सिंह ने नान-फोन टैपिंग प्रकरण पर अपना बयान दर्ज कराया है। उन्होंने फोन टैपिंग प्रकरण पर साफ कहा था कि सबकुछ डीजी मुकेश गुप्ता के कहने पर किया गया। नान प्रकरण में बड़े पैमाने पर फोन टैपिंग हुई थी। कई लोगों का फोन टैप करने के लिए विधिवत अनुमति भी नहीं ली गई थी। कुछ अनुमति जरूर ली गई थी, लेकिन समय-सीमा खत्म होने के बाद भी फोन टैपिंग जारी रही। ईओडब्ल्यू ने इस संबंध में सारे दस्तावेज हासिल किए हैं और इसको लेकर मुकेश गुप्ता के बयान लिए गए।
निलंबित डीजी के खिलाफ दो प्रकरण दर्ज हैं। एक अन्य प्रकरण में जल संसाधन विभाग के निलंबित कार्यपालन यंत्री आलोक अग्रवाल के खिलाफ जांच में गैरकानूनी तरीके से फोन टैपिंग किए गए। सूत्रों के मुताबिक आलोक अग्रवाल के भाई ने ईओडब्ल्यू में इसको लेकर शिकायत की थी। इन शिकायतों को भी जांच में शामिल किया गया है।
ईओडब्ल्यू की टीम ने कुछ साल पहले आलोक अग्रवाल के यहां छापेमारी की थी और उन्हें गिरफ्तार भी किया था। वे लंबे समय तक जेल में भी रहे। इस पूरे मामले की जांच में भी काफी गड़बड़ी की गई। इसको लेकर भी काफी कुछ प्रमाण है। ईओडब्ल्यू आने वाले दिनों में फिर उन्हें पूछताछ के लिए बुलाएगी।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *