प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी पुर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह से गर्मजोशी से मिलाया हाथ

डेरा बाबा नानक (गुरदासपुर). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को करतारपुर गलियारे का उद्घाटन किया और 500 भारतीय श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को रवाना किया जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल भी शामिल रहे.

यह गलियारा पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को पंजाब के इस जिले में स्थित डेरा बाबा नानक से जोड़ता है. गुरुद्वारा दरबार साहिब में ही सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपने जीवन के अंतिम वर्ष गुजारे थे.

पीएम मोदी ने अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के नेतृत्व में श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को गलियारे के रास्ते गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिये रवाना किया. यह गलियारा 12 नवंबर को गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व से कुछ दिन पहले खोला गया है.गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन के लिए जाने वाले पहले जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी थे. जत्थे के साथ रवाना होने के लिए डॉ. मनमोहन सिंह टर्मिनल की इमारत में पहुंचे थे. इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी भी वहां मौजूद थे. इस मौके पर पीएम मोदी तेजी से चलकर डॉ. मनमोहन सिंह से मिलने पहुंचे इस मौके पर जब वहां मौजूद SPG ने मनमोहन सिंह को सहारा देकर उठाने की कोशिश की तो पीएम मोदी ने उन्हें इशारे से बैठे रहने के लिए कहा. हालांकि तब तक मनमोहन खड़े हो गए, पीएम मोदी ने उनसे हाथ मिलाया साथ ही उनसे बातचीत की. इस मौके पर मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर भी मौजूद रहीं.

आपको बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को गलियारे में भारत की तरफ यात्री टर्मिनल की इमारत का भी उद्घाटन किया जिसे एकीकृत जांच चौकी के तौर पर भी जाना जाएगा जहां तीर्थयात्रियों को नए बने साढ़े चार किलोमीटर लंबे गलियारे से यात्रा के लिये क्लीयरेंस दिया जाएगा.

भारत और पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 24 अक्टूबर को डेरा बाबा नानक के पास अंतरराष्ट्रीय सीमा ‘जीरो प्वाइंट’ पर गलियारे के संचालन संबंधी नियमों पर समझौता किया था. गलियारे के जरिये गए पहले जत्थे में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल और विधायक एवं पूर्व मंत्री नवजोत सिंह शामिल रहे.शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के सदस्य और पंजाब विधानसभा के सभी 117 विधायक भी पहले जत्थे का हिस्सा है. गलियारे को देश को समर्पित करने से पहले पीएम मोदी ने पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ के साथ लंगर छका. केसरिया पगड़ी पहने मोदी ने गुरु नानक देव के जीवन एवं शिक्षाओं पर बने वीडियो और करतारपुर गलियारे की प्रतिकृति को भी देखा.

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *