पुर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह के कार्यक्रम में लगे मोदी-मोदी के नारे

जयपुर: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के एक कार्यक्रम में शनिवार को जयपुर में मोदी-मोदी के नारे लगे. एक निजी विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में सिंह एवं अन्य अतिथि जैसे ही मंच पर आए, कुछ छात्रों ने थोड़ी देर के लिए मोदी मोदी के नारे लगाए. राज्यसभा सदस्य सिंह ने भारत में लोकतंत्र की जड़े मजबूत करने पर व्याख्यान दिया. सिंह को जेकेएलयू लॉरेट अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया है.

इस कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उदारीकरण की नीतियों पर खड़े किए गए आर्थिक सुधारों को जारी रखने की जरूरत बताते हुए शनिवार को कहा कि एक सोची समझी रणनीति से ही भारत को पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाया जा सकता है. पूर्व प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि गरीबी, सामाजिक असमानता, सांप्रदायिकता और धार्मिक कट्टरवाद तथा भ्रष्टाचार लोकतंत्र के समक्ष कुछ प्रमुख चुनौतियां हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इस समय हमारी अर्थव्यवस्था धीमी पड़ती दिखती है. जीडीपी वृद्धि दर में गिरावट आ रही है. निवेश की दर स्थिर है. किसान संकट में हैं. बैंकिंग प्रणाली संकट का सामना कर रही है. बेरोजगारी बढ़ती जा रही है. भारत को पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए हमें एक अच्छी तरह से सोची समझी रणनीति की जरूरत है.’ उन्होंने सुझाव दिया कि सरकार को कर आतंकवाद रोकना चाहिए, भिन्न विचारों की आवाजों का सम्मान करना चाहिए और सरकार के हर स्तर पर संतुलन लाना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘उदारीकरण की नीतियों पर खड़े किए गए आर्थिक सुधारों को जारी रखना समय की मांग है.’ देश में लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने की वकालत करते हुए राजस्थान से राज्यसभा सदस्य सिंह ने कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए आने वाले समय में सिद्धांतवादी, ज्ञानी और दूरदर्शी नेताओं की जरूरत है. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की शक्ति संविधान में निहित है और राजनीतिक दलों को संविधान में उल्लेखित मूल्यों की रक्षा के लिए प्रतिबद्धता जतानी होगी.

 

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *