रायपुर कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे:पिछले 15 सालो में बी जे पी ने छत्तीसगढ को भ्रष्टाचार कमीशनखोरी का बना दिया था गढ

रायपुर 07 अप्रैल 2019* रायपुर लोकसभा से कांग्रेस के युवा प्रत्याशी प्रमोद दुबे का जनसंपर्क जोरों पर है। रविवार को संसदीय क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस दौरान कार्यकर्ताओं और जनता ने उनका जगह-जगह फूल मालाएं पहनाकर स्वागत किया गया।

भाटापारा के सदर बाजार में जनसंपर्क अभियान के दौरान प्रमोद दुबे लोगों से मुलाकात कर कांग्रेस पार्टी को अपना समर्थन करने की अपील की। इसके बाद प्रमोद दुबे ने ग्राम तरेंगा, दतरेंगी, निपनिया, करही बाजार समेत विभिन्न क्षेत्रों में जनता से मुलाकात कर यह विश्वास दिलाया कि मैं क्षेत्र के विकास हेतु आपकी सशक्त आवाज बनकर उभरूंगा। कांग्रेस प्रत्याशी ने सिंगारपुर में माता मावली के दर्शन कर प्रदेश में सुख समृद्धि की कामना की।

पिछले 15 सालों में बीजेपी ने छत्तीसगढ़ को भ्रष्टाचा, कमीशंनखोरी का गढ़ बना दिया था

प्रमोद दुबे ने छत्तीसगढ़ में बीजेपी के शासनकाल के दुस्वप्न बताया। उन्होने कि बीजेपी के शासनकाल में छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ा तो वहीं किसानों की हालत बद से बदतर हो गई थी। लेकिन अब राज्य में कांग्रेस की सरकार आते ही किसानों के चेहरे पर खुशी साफ झलक रही है। युवाओं को रोजगार मिल रहा है। स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में भी ऐतिहासिक फैसले लिए जा रहे हैं। प्रमोद दुबे ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को गरीबों का घोषणा पत्र बताया । उन्होने कहा कि न्याय योजना से उन गरीबों के जीवन में खुशहाली आएगी जो पिछले पांच वर्षों में केंद्र की भाजपा सरकार के दौरान कमरतोड़ महंगाई से परेशान थे। प्रमोद दुबे ने कहा है कि कांग्रेस का लक्ष्य भारत से गरीबी का नामोनिशान मिटाना है। कांग्रेस की 2004 से 2014 तक सरकार के दौरान मनरेगा जैसी बड़ी योजना के माध्यम से देश के करोड़ों गरीब लोगों को गरीबी से निजात दिलाने का प्रयास किया जो कि पूर्ण रूप से सफल रहा।

प्रमोद दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता बहुत भोली है जिसे चिटफंड के माध्यम से आसानी से फसा लिया गया। और उनके पैसे डूब गए। लेकिन छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने संकल्प लिया है कि जब तक मेहनत की कमाई के ये पैसे वापस जनता को नहीं मिल जाते तब तक वह चैन से नहीं बैठेगी। प्रमोद दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पद खाली होने के बाद भी नौकरी के दरवाजे नहीं खोले गए लेकिन कांग्रेस सरकार ने आते ही 20 हजार हजार पद निकालकर रोजगार सुनिश्चित करने की ऐतिहासिक पहल की है। प्रमोद दुबे ने विश्वास दिलाया कि यहां से सांसद बनने के बाद वे संसद में क्षेत्र की आवाज को सशक्त करेंगे।जनसंपर्क अभियान के दौरान ब्लॉक अध्यक्ष भरत वर्मा, इश्वर सिंह ठाकुर, सुनील माहेश्वरी, चैतराम साहू, सुंदर लाल शर्मा, उज्ज्वल साहू, अनिल वर्मा, लोकसभा साहू, अरूण वर्मा, रोहिणी वर्मा, रमेश यदू समेत बड़ी संख्या में नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे|

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *