मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता से मीलों का सफर पैदल तय करने वाले पांव रायपुर में थमें

 

रायपुर।देश के विभिन्न राज्यों से पैदल चले पांव इन दिनों मीलों का सफर तय कर रायपुर के टाटीबंध चौक पर आकर थम रहे हैं। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की संवेदनशील सोच इनके लिए बड़ा सहारा बनी है। स्थानीय विधायक श्री विकास उपाध्याय श्रमिकों की जरूरतों का ध्यान रखने दिन रात इनके बीच मौजूद रहकर सहयोग कर रहे हैं , वहीं महापौर श्री एजाज़ ढेबर नागरिक सेवाओं के बेहतर प्रबंध के लिए नियमित भ्रमण कर जानकारी ले रहे हैं।

रायपुर जिले के कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन की पहल पर इन श्रमवीरों के ठहरने, विश्राम करने, खाने-पीने, स्वास्थ्य परीक्षण के बाद उनके घर के पास बसों से छोड़ने के प्रबंध परिवहन और पुलिस टीम द्वारा सुनिश्चित किए गए हैं। पूरे टाटीबंध चौक को घेरे में लेकर रायपुर नगर निगम साफ सफाई, सेनेटाइज करने, पेय जल, विद्युत व्यवस्था आदि का विशेष ध्यान रख रहा है। कोरोना संक्रमण की वजह से रायपुर की सीमाओं से होकर अपने गृह ग्राम के लिए पैदल गुजर रहे रोज हजारों श्रमिकों को यहाँ स्वल्पाहार, खाना, छाछ, फल, दूध के साथ उन्हें जूते-चप्पल भी सुलभ कराए जा रहे हैं। लंबी दूरी के दौरान पैरों के छालों, असहनीय पीड़ा को दूर करने दवा की व्यवस्था के साथ छत्तीसगढ़ के विभिन्न ज़िलों की ओर रवाना होने से पहले कोरोना रैपिड टेस्ट भी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है।

*परिवहन, स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम श्रमिकों के लिए मुस्तैद*
कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन के निर्देश पर परिवहन अधिकारी श्री शलभ साहू के साथ परिवहन विभाग की पूरी टीम श्रमिकों को जल्द से जल्द उनके गृह प्रदेश व छत्तीसगढ़ के विभिन्न राज्यों तक भेजना सुनिश्चित कर रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मीरा बघेल के नेतृत्व में चिकित्सकीय दल घर लौटने वाले मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रहा है, साथ ही सामाजिक संस्था युवा पहल के चिकित्सक आवश्यक उपचार व दवाएं भी श्रमिकों को उपलब्ध करा रहे हैं।

*संवेदनशील रायपुर पुलिस बनी मजदूरों का सहारा*
पुलिस अधीक्षक श्री आरिफ शेख के मार्गदर्शन में आमानाका थाना व पुलिस लाइन से अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी इस महत्वपूर्ण चौक पर लगाई गई है। यहां पर आमानाका थाना प्रभारी श्री भरत बरेठ के नेतृत्व में पुलिस बल कम्युनिटी पुलिसिंग का शानदार मिसाल बना हुआ है। महिला बल महिलाओं को सेनेटरी पैड सहित बच्चों को नाश्ता व हर जरूरत को पूरा कर रहा है।

*नगर निगम के सफाई घेरे में- टाटीबंध चौक*
टाटीबंध चौक पर पूरी व्यवस्था का आधार बनी रायपुर स्मार्ट सिटी द्वारा शुरु की गई निशुल्क स्वल्पाहार व्यवस्था से, जहाँ नगर निगम कमिश्नर और रायपुर स्मार्ट सिटी के एमडी श्री सौरभ कुमार के मार्गदर्शन पर श्रमिकों के लिए स्वल्पाहार सहित खानपान की संपूर्ण व्यवस्था कराई गई है, वहीं थके-हारे श्रमिकों को स्वल्पाहार के साथ ठहराने की शुरुआत कर स्मार्ट सिटी ने स्वयं सेवी संगठनों की बड़ी टीम को श्रमिकों की मदद के लिए लगाया। पिछले 25 दिनों से टाटीबंध-हीरापुर गुरुद्वारा प्रबंध समिति व खालसा रिलीफ़ फाउंडेशन के सदस्य दिन-रात अपनी सेवा देकर श्रमिकों को घर तक सकुशल पहुंचाने का माध्यम बने हुए हैं। नगर निगम के जोन-8 की पूरी सफाई टीम यहाँ 24 घंटे तैनात है। बसों और हर पंडाल को सेनिटाईस करने के साथ सफाई के सारे प्रबंध जोन कमिश्नर प्रवीण गहलोत की अगुवाई में किए जा रहे हैं। अलग-अलग प्रदेशों और छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के श्रमिकों के लिए पंडाल, स्वास्थ्य जांच, सहित सभी बुनियादी सुविधाएं नगर निगम और स्मार्ट सिटी की देखरेख में की गई हैं।

 

हर मुसाफिर का ध्यान रख रहा ज़िला प्रशासन
रायपुर जिला पंचायत सीईओ डॉ. गौरव कुमार सिंह के नेतृत्व में इन श्रमिकों को गंतव्य तक भेजने की व्यवस्था की गई है। टाटीबंध में लगे 18 राहत पंडाल में अलग-अलग राज्य और ज़िलों के श्रमिकों को सारी सुविधाएं सुलभ कराई गई हैं। इसके अलावा डिप्टी कलेक्टर स्तर के अधिकारियों की अगुवाई में परिवहन, लोक निर्माण, नगर निगम, स्मार्ट सिटी के पदाधिकारी भी यहां पर 24 घंटे तैनात हैं, जो सभी श्रमिकों को उचित मार्गदर्शन प्रदान कर रहे हैं। इस व्यवस्था के नोडल अधिकारी डॉ. गौरव सिंह इन श्रमिकों के लिए भोजन, स्वल्पाहार, दवा आदि की जरूरत की भी सतत मॉनिटरिंग कर रहें है।

SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *